मरने जा रही लड़की की एक रिक्शेवाले ने बचाई जान, 8 साल बाद लड़की ने इस तरह चुकाया अहसान

नमस्ते दोस्तो आप सभी का स्वागत है .आप तो ये जानते ही है की आज के समय में दुनिया में बहुत ही अच्छे काम करने वाले कई इंसान मौजूद है जो किसी न किसी की मदद करते रहते है. लेकिन हम आप को बता दे की एक ऐसे ही भले इंसान के बारे में बताने वाले है जिसका नाम बबलू शेख है. बबलू एक गरीब व्यक्ति है जो रिक्शा चला के और मेहनत मजदूरी करके अपनी रोजी रोटी चलाता है. जानकारी एक लिए अआप को बता दे की आज से करीब 8 साल पहले बबलू शेख अपना रिक्शा लेकर कहीं जा रहे थे, तभी उन्हें एक आदमी ने बुलाया और अपनी बेटी को रिक्शे में बैठाकर बोला इसे ध्यान से स्कूल छोड़ देना. और बबलू उस छोटी लड़को को स्कुल लेकर जाने लगा.

आप को बता दे की जब बबलू रिक्शा चला रहा था लकिन तब वो लड़की अचानक रोने लगी और रिक्शे से बाहर निकलकर रेल की पटरियों की तरफ तेजी से भागने लगी थी. लेकिन ये भी बता दे की बबलू शेख पर भी उसकी जिम्मेदारी थी इसलिए वह दौड़ा -दौड़ा लड़की के पीछे गया. बता दे की लड़की आत्महत्या करने के लिए पटरियों पर खड़ी हो गई. बबलू ने लड़की को काफी समझाया, लेकिन लड़की बबलू को जाहिल, गवार कहने लगी फिर भी बबलू वहां से नहीं हटा.

बता दे की लगभग एक घंटे के बाद बबलू उस लड़की को बहुत मुश्किल से घर लेकर आया.तभी लड़की ने गुस्से में उसे कहा कि अपनी मनहूस शक्ल दुबारा मत दिखाना और चले जाओ यहां से. यह सुनकर बेचारा बबलू वहां से चला गया.फिर इस घटना के करीब 8 साल बाद बबलू का रिक्शे से ऐक्सिडेंट हो गया और कुछ लोग उसे अस्पताल लेकर गए.जब बबलू को होश आया तो एक डॉक्टरनी वहां खड़ी थी. यह डॉक्टरनी और कोई ही नहीं बल्कि वह लड़की ही थी जिसकी जान बचाई थी बबलू ने


और ये बता दे की लड़की ने सबके सामने बबलू को अपना पापा बताया और यह भी कहा कि अगर ये मेरी जान नहीं बचाते तो आज मैं डॉक्टर नहीं बन पाती.और दोनों रोने लगे थे.

 

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *