जानिए फिल्म बादशाहो के गाने ‘मेरे-रश्के-कमर’ का मतलब

वैसे तो बॉलीवुड में आए दिन कई गाने आते रहते है पर नहुत कम ऐसे गाने होते है जो लोगो को बहुत पसिंद आते है वैसे तो बहुत से फिल्म मेकर अपनी फिल्म में पुरने गानो को लेते है और उन्हें रीमेक करते है पर ये गाने भी लोगो को बहुत पसिंद आते है जैसे की नसरत फतेह अली खान साहब का गाना ‘मेरे-रश्के-कमर’ जो की लोग के बीच बहुत ही लोकप्रिय हुआ था पर बहुत कम लोग इस गाने की इस लाइन का मतलब शायद ही जिनते होंगे।

बॉलीवुड की फिल्मो में बहुत से ऐसे लोकप्रिय गाने होते है जिनके कुछ बोल हम लोगो को समझ नहीं आते है क्या आप ने कभी सोच है की इन शब्दों का क्या मतलब होता है तो आज हम आप को फिल्म बादशाहो के रीमेक गाने ‘मेरे-रश्के-कमर’ का मतलब बताने वाले है।

‘बे हिजाबाना वो सामने आ गए’- हिजाबाना का मतलब होता बिना पर्दा

‘बर्क सी गिर गई काम ही कर गई ‘- इस गाने में बर्क का मतलब है बिजली

‘बज़्म-ए-रिदाना खनकने लगे’- इस का मतलब होता है शराबियों की महफिल

‘आंखों में थी हया हर मुलाक़ात पर सुर्ख आरिज हुए वस्ल की बात पर’- सुर्ख आरिज का मतलब होता है की गाल लाल हो जाना और वस्ल का मतबल होता है मिलन

‘मेरे-रश्के-कमर’- गाने की इस लाइन का मतबल होता है इतनी खूबसूरत कि चांद भी जलने लगे

source